अजीत अंजुम की फेसबुक वाल से
April 7, 2019 • NP DESK

जब मौसम चुनावी हो , जीतनेक बेताबी हो ,  तो कुछ भी मुमकन है . जब सटम करट हो , जब नेता करशन को आमसात कर चुके ह , जब बड़ी - बड़ी पाटयांचुनाव जीतनेकेलए हर हथकंडेको हथयार बना लेतो कुछ भी मुमकन है . जी हां ऐसा म इसलए कह रहा ंयक गोरखपुर केजस समाजवाद सांसद वीण नषाद को कल टवी ९ भारतवषमअपनेटंग ऑपरेशन म बेनकाब कया था , वो नषाद साहब आज बीजेपी के हो लए . वागत का गलदता ु तो थाम चुके ह , कमल का नशान उहमलनेही वाला है . येवही नषाद हजो बकाऊ सांसद को बेनकाब करनेवालेहमारेऑपरेशन भारतवषमकालेधन के दम पर चुनाव लड़ने और करोड़ क लैकमनी खचकरनेके दावेकर रहेथे . अब नषाद साहब उस पाट क सरपरती मचुनाव लड़गेजो कालेधन के खलाफ खुद को सबसेबड़ा ूसेडर मानती है .  नेता के बारेमआपनेजतना सुना नह होगा , उससेयादा आपनेटवी ९ भारतवषकेटंग ऑपरेशन मदेख लया होगा . देश के कई सूबेकेसांसद ऑपरेशन भारतवषमबेनकाब ए ह . येवो सांसद ह , जो चुनाव जीतनेकेलए करोड़ क लैकमनी खचकरते ह . चुनाव आयोग के कायदेकानून क धजयां उड़ातेह . लाख करोड़ लुटा कर , वोट खरीदकर , शराब बांट कर और कई तरह के हथकंडेअपनाकर चुनाव जीततेह . ऐसेनेता के खुलासेके बाद भी अब तक सभी पाटय के नेता नेचुपी साध रखी है . ऐसा लग रहा हैजैसेसबममौन सहमत है . अगर बीजेपी केसांसद फंसतेतो वप शोर मचाता . वप के फंसतेतो बीजेपी शोर मचाती लेकन जब सब फंस गए तो चोर चोर मौसेरेभाई जैसी हालत है. सब मौन है . सब तरफ साटा है , जैसेकुछ आ ही नह हो . ऐसी थत य है ? नेता क ऐसी चुपी या कहती है ?  इतना बड़ा खुलासा भी नकारखानेमतूती क आवाज क तरह य ह