दस साल के इंतजार के बाद कर दी ड्रग इंस्पेक्टर नेहा की हत्या
March 30, 2019 • NP Network

पंजाब की ड्रग इंस्पेक्टर डॉक्टर नेहा शौरी  मामले में पंजाब पुलिस का कहना है कि 48 वर्षीय दवा की दुकानवाला जिसनें नेहा शौरी की हत्या की मानसिक रूप से बीमार और अवसाद ग्रसित था. पुलिस ने यह भी कहा कि वह लंबे से महिला अधिकारी नेहा के खिलाफ मन में कुंठा पाले हुए था. पुलिस का कहना है कि नेहा के कहने पर ही विभाग ने बलविंदर सिंह जो दस साल पहले दवा की दुकान बंद करवा दी थी. वह तभी से नेहा से बदला लेना चाहता था.

बताते चलें कि  नेहा की हत्या केमिस्ट की दुकान चलाने वाले एक व्यक्ति ने गोली मारकर हत्या कर दी. इसके बाद आरोपी ने खुद को भी गोली मार ली. घटना के वक्त नेहा खरार स्थित अपने दफ्तर में मौजूद थीं।