अखिलेश ने ठुकराया चाचा शिवपाल का ऑफर, अकेले लड़ेंगे विस चुनाव
November 21, 2019 • NP Network

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष तथा उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने चाचा शिवपाल सिंह यादव का बड़ा ऑफर ठुकरा दिया है। अखिलेश यादव को प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव का समाजवादी पार्टी से चाचा की पार्टी का गठबंधन मंजूर नहीं है।प्रयागराज में समाजवादी पार्टी की पूर्व विधायक विजमा यादव की बेटी ज्योति यादव के विवाह समारोह में केपी कॉलेज पहुंचे समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने विजमा यादव को बेटी की शादी की बधाई दीं और बेटी को शुभकामनाएं दीं। इस मौके पर अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल के गठबंधन ऑफर को एक सिरे से खारिज कर दिया।उन्होंने कहा कि हम किसी से गठबंधन नहीं करेंगे और 2022 में अकेले ही सरकार बनाएंगे। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया से गठबंधन पर अखिलेश यादव ने कहा कि अभी बहुत समय है। हमारी पार्टी और कार्यकर्ता काफी सक्षम हैं, हम 2022 में वह बिना गठबंधन के ही सरकार बनाएंगे। अखिलेश ने दावा किया कि 2022 में बिना गठबंधन के उत्तर प्रदेश में सरकार बनाएंगे। उसकी तैयारियों में समाजवादी पार्टी लगी हुई है। हर कार्यकर्ता विधानसभा उप चुनाव में अच्छे परिणाम के बाद बेहद उत्साह में है।

सरकार पर हमला

अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश की सरकार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के बीच जंग चल रही है। जिन मुख्यमंत्री ने उप मुख्यमंत्री की कुर्सी छीन ली थी आज उन्हीं का काम रोका जा रहा है।
अखिलेश यादव लखनऊ के अमौसी हवाई अड्डे से निजी विमान से प्रयागराज पहुंचे। उनका सपा पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने भव्‍य स्‍वागत किया। केपी कॉलेज मैदान में सभी पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव से मिलने को आतुर थे। आलम यह हो गया था कि लोगों का हुजूम जुट गया। सपा पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की भीड़ से कई बार धक्‍कामुक्‍की भी हुई।अखिलेश यादव ने कहा कि शिक्षा और मेडिकल के क्षेत्र में भाजपा लाभ के लिए संस्थाओं को खराब कर रही है।समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि प्रदेश सरकार योजनाओं के केवल नाम बदल रही है। शिक्षा और नोकरी में युवाओं को धोखा दिया जा रहा है।