भारत नेपाल सीमा पर सुरक्षा बलों को करनी पड़ती है कड़ी मशक्कत
November 19, 2019 • NP Network

बहराइच। भारत-नेपाल की खुली सीमा पर थानों के बीच काफी दूरी है। खुली सीमा से तस्कर आए दिन प्रवेश करते रहते हैं। सीमा पर राष्ट्र विरोधी गतिविधियां भी संचालित होने की संभावना बनी रहती है। इसको देखते हुए पुलिस ने सीमा पर चौकसी बढ़ाने के लिए आठ चौकियों की स्थापना करने की कवायद शुरू की है बहराइच उत्तर प्रदेश* एसपी डॉ गौरव ग्रोवर ने रुपईडीहा सीमा पर बनने वाली चौकी के लिए निरीक्षण किया है। चौकियों की स्थापना के लिए शासन को प्रस्ताव भेजने की तैयारी पूरी कर ली गई है। शासन से हरी झंडी मिलते ही पुलिस चौकियों की स्थापना का काम शुरू हो जाएगा।
भारत और नेपाल के बीच खुली सीमा तस्करों के लिए हमेशा मुफीद साबित होती रही है। जिले के नवाबगंज, रुपईडीहा, मोतीपुर, मुर्तिहा और सुजौली थाना क्षेत्र की करीब 80 किलोमीटर की खुली सीमा पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों के लिए भी सिरदर्द बनी रहती है। खुली सीमा पर जांच के लिए पुलिस के साथ ही एसएसबी, कस्टम आदि मुस्तैद रहती हैं। पुलिस थानों की पुलिस भी लगी रहती है। मगर काफी लंबा क्षेत्र होने के कारण पुलिस को सुरक्षा में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था।