पीलीभीत में हुआ 525 जोड़ों का सामूहिक विवाह मुख्यमंत्री रहे उपस्थित
November 14, 2019 • NP Network

 पीलीभीत। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगर पिछली सरकारों ने जनहित के काम किए होते तो आज हालात इतने खराब नहीं होते। उन्होंने कहा कि पीलीभीत में मेडिकल कॉलेज खोले जाने का प्रस्ताव आगे बढ़ा दिया गया है। जल्द ही यहां मेडिकल कॉलेज खुलेगा।

मुख्यमंत्री ने गुरुवार को जनपद में 500 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार बिना किसी भेदभाव के विकास योजनाओं को समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने का प्रयास कर रही है। प्रधानमंत्री मोदी जी ने साल 2014 में नारा दिया था सबका साथ सबका विकास। ये नारा अब हकीकत में बदल रहा है। आज प्रदेश में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत किसानों को 6 हजार रुपये सालाना मिल रहा है। हर जरुरतमंद को पेंशन मिल रही है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि आज प्रदेशभर में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत 21 हजार बालिकाओं की शादी का कार्यक्रम संपन्न हुआ है। पीलीभीत में 525 बालिकाओं के विवाह का कार्यक्रम हुआ। किसी बाप को बेटी के विवाह की चिंता न हो इसलिए सामूहिक विवाह योजना शुरू की गई। जिसके अंतर्गत 51 हजार रुपये का विवाह अनुदान दिया जा रहा है। बेटी के पैदा होने से लेकर उसकी पढ़ाई तक के लिए सरकार की ओर से कन्या सुमंगला योजना शुरू की गई है। इसी दिशा में आज कन्या सुमंगला योजना की कुछ लाभार्थियों को भी मैंने सम्मानित भी किया है। इस तरह से हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के नारे को साकार कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह तीर्थस्थलों को उनका मौलिक स्वरूप बरकरार रखते हुए पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने, किसानों को नई तकनीक से खेती करने, प्रत्येक जनपद में कृषि विज्ञान केंद्र खोलना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि हर बड़े जनपद में 2 और छोटे जनपद में एक कृषि विज्ञान केंद्र की स्थापना हो इसके लिए सरकार काम कर रही है। 

इससे पहले सीएम योगी ने मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत 525 बेटियों की शादी का कार्यक्रम संपन्न कराकर नव विवाहित जोड़ों को आशीर्वाद दिया।