योगी सरकार के मंत्री नहीं मानते जरुरी : अखिलेश यादव
January 30, 2020 • NP Network

आजमगढ़। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज आजमगढ फूलपुर के आंधीपुर गांव में दिवंगत पूर्व सांसद राकृष्ण यादव के आवास पर शोक संवेदना प्रकट करने पहुंचे। उन्होने शोक संवेदना प्रकट करने के बाद परिजनो ंको ढ़ाढ़स बधायां। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश ने  भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होने कहा कि आज के मंत्री कहते है शिक्षा से रास्ता ही बिगड़ता जाता है। इसलिए आज मुख्यमंत्री भी ऐसे बन गये जिनका प्रिय कार्य गाय बचाने का है। 
शोक संवेदन प्रकट करने के बाद मीडियाकर्मीयों से बातचीत करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री अखिलश यादव ने जेल मंत्री जय कुमार जैकी के बयान पटलवार करते हुए कहा कि कांग्रेस के संस्थापक एओ ह्युम ने कहा था कि शिक्षा बहुत जरूरी है। लेकिन आज के मंत्री कह रहे है कि शिक्षा से रास्ता ही बिगड़ जाता है। इसलिए हमारे ऐसे मुख्यमंत्री बन गये है जो शिक्षा की जगह गायों के पीछे भाग रहे है। इसलिए उन्होने इंजीयनरों को सांड पकड़ने के लिए लगा दिया है। हमारे मुख्यमंत्री सांड बचा रहे तो उनके मंत्रीयों से क्या उम्मीद की जा सकती है ।
वही राज्य मंत्री रघुराम सिंह के बयान पर  अखिलेश यादव ने कहा कि वे भारत के और हिन्दुतान के निवासी है, और अगर हम कागज नहीं दिखायेगें तो मंत्री क्या कर लेगें। बीजेपी वालों से बच कर रहे। उन्होने कहा कि जनता का ध्यान अन्य महत्वपूर्ण मुददो से हटाने के लिए इस तरह की बयानबाजी हो रही है।  अखिलेश यादव ने कहा कि आने वाले चुनाव में अपनी समस्याओं को देखकर मतदाता मतदान करें। उन्होने कहा कि भाजपा ने काम नहीं किया। समाजवादियों की ही योजनाओं के नाम को बदल दिया। हमने दो वर्ष में हाइवे तैयार कर दिया था। आज तीन साल बीत जाने के बाद भी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे अधूरा पड़ा है। उन्होने उपस्थित लोगों से कहा कि प्रदेश में आने वाली सरकार हमारी है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सीएए और एनआरसी को लेकर भी सरकार पर प्रहार किया। उन्होने कहा कि इससे पुलिस के जवान भी परेशान है। आज पुलिस वालो के परिजनों से भी नागरिकता मांगी जा रही है। इस कानून के लिए गांव की गरीब जनता आवश्यक कागजात कहां से लायेगी।